DPR Fact Check

  • NEERAJ KUMAR SAHU
  • @NEERAJ KUMAR SAHU

कलेक्टर श्री अमनबीर सिंह बैंस ने कहा है कि कोविड-19 को गई बीती बात न समझा जाए, अपितु इससे संक्रमण के बचाव के प्रति हम सबको सजग एवं सचेत रहना होगा। अभी से बेहतर रणनीति के साथ काम करने पर जिले में संक्रमण के मामले नहीं बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सीमा से लगे सभी इलाकों पर पैनी निगरानी रखी जाए। वहां से आने वाले लोगों को यदि संक्रमण के लक्षण पाए जाते हैं तो तत्काल उनको क्वारेंटाइन कर उचित उपचार की व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि जिले में संचालित फीवर क्लीनिक्स की व्यवस्थाएं दुरुस्त रहें। इनमें आने वाले मरीजों को सेम्पल के लिए अन्य स्थानों पर न ले जाया जाए। श्री बैंस शुक्रवार को जिला मुख्यालय से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जिले के अनुविभागीय राजस्व अधिकारियों, तहसीलदारों, जनपद पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारियों एवं खण्ड चिकित्सा अधिकारियों को संबोधित कर रहे थे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में सीईओ जिला पंचायत श्री एमएल त्यागी भी मौजूद थे। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग को संबोधित करते हुए कलेक्टर ने आगे कहा कि महाराष्ट्र सीमा से लगे हुए समस्त नाकों पर पंजीयन रजिस्टर एवं आने वाले यात्रियों की विधिवत् जानकारी संधारित की जाए। यहां से रोज आने वालों की सघन स्क्रीनिंग हो। बीच-बीच में आने वालों को सात दिन का क्वारेंटाइन कराया जाए। आने वालों की जानकारी प्रतिदिन वरिष्ठ अधिकारियों को भी उपलब्ध कराई जाए। उन्होंने कहा कि जो बड़े सवारी वाहन के अंदर यात्रियों के लिए कोरोना प्रोटोकॉल का पालन नहीं कर रहे हैं, उन पर जुर्माना किया जाए। सभी सवारी वाहनों में यात्री सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें एवं मास्क लगाकर ही बैठे। इसका पालन चालक-परिचालक भी करे। इसके साथ ही कोविड-19 के लक्षण परिलक्षित होने पर संबंधित व्यक्ति की रेपिड एंटीजन टेस्ट सेम्पलिंग भी कराई जाए।

}